38 घंटे- केजरीवाल का धरना प्रदर्शन जारी, सिसोदिया शुरु किया अनिश्चितकालीन अनशन

38 घंटे- केजरीवाल का धरना प्रदर्शन जारी, सिसोदिया शुरु किया अनिश्चितकालीन अनशन
Please Share On....

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके कैबिनेट सहयोगियों का अपनी मांगों को लेकर एलजी हाऊस में 38 घंटे बाद भी धरना जारी रहा हैं। इस बात की जानकारी खुद अरविंद केजरीवाल ने बुधवार की सुबह ट्वीट करते हुए दी है। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा कि दिल्ली के विकास में उत्पन्न बाधाओं को दूर करवाने के लिए संघर्ष जारी है।

वहीं, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू करने के बाद अब LG के खिलाफ मनीष सिसोदिया ने भी अनिश्चितकालीन अनशन की शुरूआत कर दी है।

Live Update –

दिल्ली: CM के धरने का मामला, LG अनिल बैजल आज गृह सचिव से करेंगे मुलाकात
38 घंटे बाद भी केजरीवाल का प्रदर्शन जारी, सिसोदिया ने भी शुरु किया अनिश्चितकालीन अनशन

वहीं, आप एलजी दफ्तर के बजाय अब मुख्यमंत्री आवास पर प्रदर्शन करने की तैयार में जुटी हुई है। केजरीवाल अपने मंत्रियों के साथ अब 6 फ्लैग स्टाफ रोड यानी सीएम आवास पर धरना करेंगे। जिसको लेकर आप ने अपने विधायकों, नेताओं और कार्यकर्ताओं को सीएम आवास पर पहुंचने के लिए संदेश जारी किया है।

धरने को देखते हुए एलजी हाऊस के आसपास सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। आप नेताओं और कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए एलजी हाऊस के सभी एंट्री प्वाइंटों पर पुलिस ने बैरिकेडिंग कर दी है। अब तक मांगों को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल की ओर से कोई बातचीत नहीं की गई है।

बता दें कि केजरीवाल,उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और दो अन्य मंत्री गोपाल राय व सत्येंद्र जैन ने सोमवार शाम साढ़े पांच बजे उपराज्यपाल से अपनी मांगों को लेकर मुलाकात की और तब से वे उपराज्यपाल कार्यालय में धरने पर बैठे हैं। आईएएस एसोसिएशन ने सरकार के उस दावे को गलत बताया है,जिसमें कहा गया है कि अधिकारी 4 महीने से हड़ताल पर हैं। एसोसिएशन ने कहा है कि सभी अधिकारी काम पर हैं।

सूत्र बताते हैं कि मुख्यमंत्री और उनके कैबिनेट सहयोगियों ने मुख्यमंत्री आवास से खाना मंगवाकर खाया। राजनिवास की ओर से चाय-पानी के इंतजाम किए गए हैं। सोमवार की रात एलजी हाऊस के कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री और उनके साथियों का पानी और शौचालय को लेकर खास ध्यान रखा। मुख्यमंत्री ने उपराज्यपाल से आईएएस अधिकारियों को हड़ताल खत्म करने का निर्देश देने, 4 महीने से कामकाज रोक कर रखे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने और राशन की होम डिलीवरी स्कीम को मंजूरी देने की मांग रखी है। लेकिन उपराज्यपाल ने अधिकारियों के हड़ताल पर नहीं होने और राशन की होम डिलीवरी स्कीम को केंद्र से मंजूरी लेने की बात कहकर किसी भी तरह की कार्रवाई से इंकार कर दिया है। इसी के बाद से धरना जारी है।

एलजी हाऊस में मौजूद केजरीवाल ने ट््वीट किया कि सत्येंद्र जैन ने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल दोपहर 11 बजे से शुरू कर दी है। ज्ञातव्य है कि आप नेता और कार्यकर्ता सोमवार रात से ही एलजी हाऊस पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं। यहां भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। कई आप विधायकों और कार्यकर्ताओं ने भी एलजी हाऊस के बाहर डेरा डाल दिया,लेकिन पुलिस ने अब वहां बैरीकेड लगा दिए हैं।

वहीं, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट््वीट किया कि मुख्यमंत्री और तीन अन्य मंत्री उपराज्यपाल कार्यालय के प्रतीक्षा कक्ष में बैठे हुए हैं। लेकिन उपराज्यपाल अपने इस फैसले पर अड़े हैं वे ना तो अधिकारियों की हड़ताल वापस लेने का आदेश देंगे और ना ही राशन घर-घर पहुंचाने की योजना की फाइल को मंजूरी देंगे। बहरहाल, राजनिवास ने धरने की आलोचना करते हुए कहा कि बिना किसी कारण धरने की श्रृंखला में एक अन्य प्रदर्शन है।
बता दें कि मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से आप विधायकों की मारपीट के बाद से आईएएस व दॉनिक्स अधिकारी मुख्यमंत्री और मंत्रियों की रूटीन बैठकों का बहिष्कार कर रहे हैं। अधिकारियों ने साफ कर दिया है कि मुख्यमंत्री जब तक सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांगते तब तक कैबिनेट बैठक और इसी तरह की जरूरी बैठकों को छोड़कर मुख्यमंत्री और मंत्रियों से लिखित संवाद के जरिए ही कामकाज जारी रखेंगे। इससे जो काम एक दिन में हो जाना चाहिए उसमें अब हफ्तों-महीनों लग रहे हैं।


Please Share On....

Future India News Network

The author didn't add any Information to his profile yet.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked. *