मॉनसून सत्र के पहले ही दिन हुआ हंगामा, विपक्ष लाया अविश्‍वास प्रस्‍ताव

मॉनसून सत्र के पहले ही दिन हुआ हंगामा, विपक्ष लाया अविश्‍वास प्रस्‍ताव
Please Share On....

नई दिल्‍ली: संसद में बुधवार को मॉनसून सत्र की शुरुआत हंगामेदार रही. विपक्ष ने सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विभिन्‍न मांगों को लेकर हंगामा शुरू कर दिया. राज्‍यसभा में टीडीपी सांसद आंध्र प्रदेश को विशेष राज्‍य का दर्जा देने की मांग करने लगे. हंगामा बढ़ने पर उपसभापति ने 39 मिनट बाद ही सदन की कार्यवाही स्‍थगित कर दी. उधर, लोकसभा में सपा सांसद मॉब लिन्चिंग पर सरकार की घेराबंदी कर रहे थे. सत्र की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उम्मीद जतायी थी कि सभी राजनीतिक दल संसद के समय का उपयोग सार्थक चर्चा में करेंगे. उन्‍होंने कहा था कि सरकार विभिन्न राजनीति दलों की ओर से उठाये गए किसी भी मुद्दे पर चर्चा को तैयार है.

लोकसभा में सत्र की शुरुआत में कांग्रेस सांसद ज्‍योति‍रादित्‍य सिंधिया ने आरोप लगाया कि सरकार की गलत नीतियों के कारण किसान आत्‍महत्‍या कर रहा है, महिलाओं पर अत्‍याचार की घटनाएं बढ़ी हैं…इसलिए हम सरकार के खिलाफ अविश्‍वास प्रस्‍ताव ला रहे हैं, जिसे लोकसभा स्‍पीकर ने स्‍वीकार कर लिया. उधर एसपी और टीडीपी अलग-अलग मुद्दों पर सरकार को घेरने की कोशिश कर रही थी. एसपी सांसदों ने मॉब लिन्चिंग का मुद्दा उठाया तो टीडीपी आंध्र प्रदेश को विशेष राज्‍य का दर्जा देने की मांग कर रही है.

इससे पहले तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) ने सत्र में फिर नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की बात कही थी. तेदेपा संसदीय दल ने कहा था कि प्रस्ताव पर चर्चा नहीं कराये जाने की स्थिति में पार्टी संसद की कार्यवाही को बाधित करेगी. तेदेपा मोदी सरकार पर आंध्र प्रदेश की ‘उपेक्षा’ का आरोप लगाते हुए इस साल मार्च में राजग से अलग हो गई थी. इस साल मार्च-अप्रैल में संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण में लगभग हर दिन नोटिस देने के बावजूद तेदेपा लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाने में सफल नहीं हो पाई थी.

तेदेपा सांसद अविश्वास प्रस्ताव पर समर्थन के आग्रह संबंधी पार्टी प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू के पत्र को लेकर पहले ही विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं से मुलाकात कर चुके हैं. नायडू ने पत्र में कहा था कि भाजपा नीत राजग सरकार का हठी रवैया जारी रहने के चलते तेदेपा ने संसद के आगामी मानसून सत्र में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का निर्णय किया है.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने पत्र में लिखा कि हमारे सांसदों की ओर से लाये जा रहे अविश्वास प्रस्ताव को आगे बढ़ाने में आपके समर्थन के लिए मैं आपका आभारी रहूंगा. मैं इस संबंध में आपका सहयोग चाहता हूं.

Source- Zee News


Please Share On....

Future India News Network

The author didn't add any Information to his profile yet.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked. *