प्रवासी नीति: ट्रम्प ने बच्चों को परिवार से अलग करने के आदेश पर रोक लगाई

प्रवासी नीति: ट्रम्प ने बच्चों को परिवार से अलग करने के आदेश पर रोक लगाई
Please Share On....

चौतरफा निंदा और बिलखते बच्चे देख बदला अपना फैसला

नई दिल्ली। दुनिया भर से चौतरफा निंदा मिलने के बाद बुधवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने एक शासकीय आदेश पर हस्ताक्षर करते हुए अमेरिका – मैक्सिको सीमा पर प्रवासी परिवारों को अलग करने की कार्रवाई पर रोक लगा दी। अवैध रूप से अमेरिकी मैक्सिको बॉर्डर पार कर अमेरिका आने वाले प्रवासियों से उनके बच्चों को अलग करने वाली नीति के खिलाफ दुनिया भर से कई लोगों ने आवाज़ उठाई थी और इसके खिलाफ प्रदर्शन भी हुए। पिछले एक महीने में ऐसे करीब 2,500 बच्चों को उनके मां – बाप से अलग किया गया।

ट्रम्प के इस नियम के खिलाफ उनकी खुद की रिपब्लिकन पार्टी और डेमोक्रेट्स के कई सांसद साथ हो गए। यही नहीं, ट्रम्प की पत्नी मेलानिया और बेटी इवांका भी उनके खिलाफ हो गई थीं। जिसके बाद ट्रम्प को अमेरिका – मैक्सिको सीमा पर प्रवासी परिवारों को अलग करने की कार्रवाई पर रोक लगाने वाले एक शासकीय आदेश पर हस्ताक्षर करने के लिए बाध्य होना पड़ा।


 

बता दें कि एक ही महीने पहले अमेरिका में अवैध रूप से प्रवेश करने वाले प्रवासी परिवारों के बच्चों को बाड़े में रखने की तस्वीरें सामने आई थीं। साथ ही एक फोटो वायरल हुई थी जिसमें एक छोटा बच्चा पुलिस वाले के सामने रो रहा था। उस रोते हुए बच्चे को देखकर वह पुलिस अधिकारी भी उसे गोद में उठा लेता है और आंसू रोक नहीं पाता है। मीडिया में रोते बिलखते बच्चों की तस्वीरें वायरल होने लगीं। इसके बाद से ही दुनियाभर में ट्रंप के फैसले के प्रति रोष देखने को मिल रहा था।

शासकीय आदेश पर हस्ताक्षर करने के बाद ट्रंप ने व्हाइट हाउस में कहा , “ हम परिवारों को साथ रखेंगे और इससे समस्या सुलझ जाएगीं। साथ ही हम सीमा पर सख्ती बनाए रखेंगे और इस संबंध में किसी तरह की ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। हम उन लोगों को कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे जो देश में अवैध रूप से प्रवेश करते हैं। ”

ट्रंप ने कहा कि उन्हें परिवारों को अलग होते हुए देखना अच्छा नहीं लगता। “ यह एक ऐसी समस्या है जो कई सालों से चली आ रही है , कई प्रशासनों के कार्यकाल से। हम आव्रजन पर बहुत मेहनत कर रहे हैं। यह मामला ठंडे बस्ते में रहा है। लोगों को इसका सामना नहीं करना पड़ा लेकिन हम इसका सामना कर रहे हैं। ”

ट्रम्प के ब्यान से ये साफ है की इस मामले में ‘जीरो टॉलरेंस पालिसी’ अभी ख़तम नहीं हुई है। लेकिन ये बात अच्छी है की आनेवाले कुछ हफ़्तों में परिवारों को साथ रखा जायगा जब तक कि उन पर अवैध रूप से सीमा पार करने का मुकदमा पूरा न हो जाए। लेकिन उन मामलों को इस शासकीय आदेश से अलग रखा गया है जहां परिजन बच्चों के हित के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं। हालाँकि इस बारे में कोई जानकारी नहीं है की उन 2,500 बच्चों के साथ क्या होगा जो पहले ही अपने परिवार से बिछड़ चुके हैं।

Source-Star Tribune


Please Share On....

Tabina Ofaque

The author didn't add any Information to his profile yet.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked. *