नॉर्थ ईस्ट के कई राज्यों में भारी बारिश से बाढ़ और भूस्खलन, स्कूलों में छुट्टी

नॉर्थ ईस्ट के कई राज्यों में भारी बारिश से बाढ़ और भूस्खलन, स्कूलों में  छुट्टी
Please Share On....

नई दिल्ली। नॉर्थ ईस्ट के कई राज्यों में आंधी-तूफान और भारी बारिश से जनजीवन गंभीर रूप से प्रभावित हुआ है। हालाँकि उत्तर पूर्वी राज्यों में मानसून आने में अभी देर है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से हो रही भरी वर्षा से कई राज्यों में बाढ़ और भूस्खलन के हालात हैं। अधिकारीयों के मुताबिक इस साल यहाँ प्री-मानसून की बारिश औसत से 75% ज़्यादा हुई है।

मिजोरम में सबसे बुरा हाल है। यहां की राजधानी आइजोल को जोड़ने वाली कई सड़कें टूट गई हैं। लेंगपुई एयरपोर्ट की तरफ जाने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग 54, भूस्खलाएं के कारण मिट्टी में धंस गया है। लुंगलेई और ममित ज़िले में बाढ़ से प्रभावित 700 से अधिक परिवारों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है।

भारी बारिश के बाद मणिपुर की राजधानी इम्‍फाल में भी बुरा हाल है। शहर की सड़कें पानी में डूब गई हैं। लोगों के घरों में बारिश का पानी घुस गया है। राज्य सरकार ने सभी सरकारी कार्यालयों में बुधवार को छुट्टी कर दी थी। वहीँ शिक्षा मंत्रालय ने सभी सरकारी और निजी स्कूलों में गुरूवार तक छुट्टी का आदेश दिया है।

कुछ ऐसा ही हाल असम में भी देखने को मिल रहा है। यहां के बोकाखाट में बारिश से लोगों का बुरा हाल है। बारिश का पानी सड़कों पर भर गया है। लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है।मणिपुर, मिजोरम और असम में भारी बारिश के बाद कई जिलों में स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी सरकारी कार्यालयों एवं शैक्षणिक संस्थानों में आज छुट्टी घोषित कर दी थी।

ऐसे में लोग राहत शिविरों में शरण ले रहे हैं । अपदा प्रबंधन विभाग बड़े स्तर पर राहत और बचाव के काम जुटा हुआ है। लुंगलेई जिले में फंसे 150 परिवारों को अब तक सुरक्षित निकाला जा चुका है। बताया जा रहा है कि अभी भी सकड़ों लोग पानी में फंसे हुए हैं।

फिलहाल पूर्वोत्तर को बारिश से राहत मिलती नहीं दिखाई दे रही है। मौसम विभाग ने मिजोरम को अलर्ट जरी करते हुए 15 जून तक राज्य में भारी बारिश की संभावना जताई है। बारिश से निचले इलाकों में हालात बिगड़ सकते हैं। मौसम विभाग ने मछुआरों को समुद्र तट से दूर रहने के लिए कहा है।

source- hindustan times


Please Share On....

Tabina Ofaque

The author didn't add any Information to his profile yet.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked. *